Hacking Tips knowledge

What Is Tor Browser?क्या टॉर ब्राउज़र है?Download Tor Browser

दोस्तों आज हम बात कर रहे हैं   टोर ब्राउज़र (Tor Browser) की। जी हाँ हैकरों का ब्राउज़र , और हम ऐसा क्यों कह रहे हैं जानेंगे इस पोस्ट में। ये टोर ब्राउज़र (Tor Browser) क्या होता है ? क्या हमें टोर ब्राउज़र (Tor Browser) यूज़ करना चाहिए ? इसके क्या फायदे एवं नुकसान है ? टोर ब्राउज़र (Tor Browser) का फुल फॉर्म होता है और the onion router । जैसे एक प्याज़ (Onion) मे बहुत सारी लेयर्स  ( layers)  मिलती है बिलकुल वैसे ही टोर ब्राउज़र (Tor Browser) भी उसी तरह काम करता है, यानी प्याज़ (Onion) के लेयर्स  ( layers)  के जैसा ही ये आईपी की लेयर बनाता है जिससे आपकी आईपी हाईड हो जाती है।

अपनी पहचान छुपाने के लिए सबसे ज्यादा यूज होने वाला Browser है । इस ब्राउजर का इस्तेमाल दुनिया के कुछ देशों को छोड़कर बाकी सभी जगह होता है और यह इंडिया में पूरी तरह लीगल है , मतलब इसका इस्तेमाल बिना किसी ऱोक टोक के कर सकते हैं। लेकिन इस ब्राउज़र में ऐसा क्या खास है क्या वजह है जिससे इस में रोक लगाई जा सकती है ? आखिर यह इतना फेमस क्यों है ? तो चलिए जानते हैं इसके बारे में थोड़ा विस्तार से या कैसे काम करता है।

टोर ब्राउज़र (Tor Browser) यूज़ क्यूँ होता है ?    टोर

दोस्तों  टोर का इस्तेमाल वही लोग करते हैं जिन्हे अपनी ऑनलाइन पहचान छिपाने की जरूरत पड़ती है , या फिर वैसे लोग जो अपनी privacy को लेकर जयादा फ़िक्र करते हैं। और हाँ , आज की इंटरनेट दुनिआ में जहाँ ऑनलाइन क्राइम बढ़ रहे है , अपनी पहचान छिपाना शायद जरूरी भी है। क्यों की बहुत वेबसाइट आपसे बिना परमिशन मांगे आपके व्यक्तिगत जानकारियाँ जमा करती रहती हैं।

आप ऑनलाइन कुछ भी करें आपकी प्राइवेसी सेव रहती है। डीप वेब या डार्क वेब को यूज़ या विजिट करने में भी ब्राउज़र (Tor Browser) का इस्तेमाल होता है।

टोर ब्राउज़र (Tor Browser) कैसे काम करता है ?

टोर ब्राउज़र (Tor Browser) दूसरे किसी ब्राउज़र जैसे firefox/chrome से अलग है। इसका मुख्य काम होता है यूजर के पर्सनल आईपी को हाइड करना जिससे कि यूजर क्या कर रहा है यह ट्रैक न हो सके। जैसा कि आप जानते हैंआईपी का मतलब इंटरनेट प्रोटोकॉल होता है, जिससे यह पता लगाया जा सकता है कि आप कौन सा लैपटॉप मोबाइल यूज कर रहे है, आपकी OS कौन सी है, आपका लोकेशन क्या है। और इसी वजह हैकरों लिए ये सबसे अच्छा ब्राउज़र माना जाता है।

यह आपकी आईपी को लगातार बदलता  रहता है , और आईपी के आगे एक चेन सा बना देता है जिससे आपको कभी यूएसए यूके जैसे देश आईपी का मिलता रहता है। और आप का वास्तविक आईपी  दूसरेआईपी से ढका होता है जिससे आपको ट्रेस करना बहुत मुश्किल हो जाता है।

 

क्या इसे यूज करना चाहिए ?

हाँ , मै सिफारिश करता हूँ , लेकिन दोस्तों यह डिपेंड करता है आपके ऊपर कि आप ऑनलाइन क्या करते हैं। अगर आप कुछ गलत काम करते हैं (जो कि नहीं करना चाहिए) जैसे है हैकिंग ,तो आपको अपनी पहचान छुपानी पड़ती है या फिर अगर आप चाहते हैं कि मेरी प्राइवेसी छिपी रहे तो भी आप इसका यूज कर सकते हैं।

 

डाउनलोड  करने यहाँ क्लिक करे 

नोट : Tor को ओपन करने के बाद इसके बॉक्साइट को मैक्सिमाइज़ ना करें मतलब आप इसके विंडो साइज को बड़ा ना करें क्योंकि इससे आपकी प्राइवेसी कम रह जाती है।

😎 😎  😎

One comment

Leave a Reply