Google Play और App Store से सहेजी गई टिक्टोक, सरकार का 59 चीनी ऐप्स बैन करने का फैसला


टिकटोक ऐप को बैन के बाद अब भारत में Google Play और ऐप स्टोर से भी हटा दिया गया है, जिसके बाद अब नए यूज़र्स TikTok ऐप को डाउनलोड नहीं कर पाएंगे। बता दें, सोमवार रात इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय ने टिकटॉक सहित चीन के 59 ऐप को भारत में बैन कर दिया था। सरकार ने अपने आदेश में कहा है कि इन ऐप्स से भारत की संप्रुभता और एकता को एक तरह का खतरा है जिसके कारण से ही यह फैसला लिया गया है। सरकार के अनुसार ये सभी ऐप यूज़र्स की गोपनियता का उल्लंघन करते हुए उनका निजी डेटा भारत से बाहर भेज रहे थे। इस बाबत सरकार ने Apple और Google को नोटिस ज़ारी करते हुए 59 चीनी ऐप्स को हटाने का आदेश दिया है। साथ ही इंटरनेट सेवा प्रोवाइडर्स और दूरसंचार कंपनियों को भी बैन लागू करने को कहा है। इस लिस्ट का पहला ऐप है टिक्टोक, जिसे गूगल प्ले और ऐप स्टोर दोनों ही जगह से हटा दिया गया है।अब आप चाहकर भी टिकटॉक को डाउनलोड नहीं कर सकते। हालांकि, जिन लोगों ने यह ऐप अपने डिवाइस में पहले से इंस्टॉल की किया हुआ था, उनके फोन में यह अभी भी काम कर रहा है। लेकिन अगर आप किसी कारण से अनइंस्टॉल कर देते हैं, तो आप फिर से टिकटॉक को डाउनलोड नहीं कर पाएंगे।

सरकार ने अपने बयान में कहा है कि मंत्रालय ने इन ऐप्स को आईटी एक्ट के सेक्शन 69A के तहत सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम के प्रावधानों के तहत लागू करते हुए व सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (प्रोसिजर और सेफगार्ड्स फॉर इंफोर्मेशन ऑफ इंफोर्मेटिस पब्लिक) नियम 2009 और की प्रकृति को देखने के लिए 59 एप्लिकेशन हैं बैन दिया है। उपलब्ध जानकारी के अनुसार, इन ऐप्स में कुछ ऐसी गतिविधियों में लगे हुए थे, जो भारत की संप्रभुता और अखंडता, भारत की रक्षा, राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिएone उत्पन्न कर सकते थे।

हालांकि, टिकटॉक के अलावा बैन किए गए अन्य एप्लिकेशन अभी भी डाउनलोड के लिए उपलब्ध हैं। शेयरिट अभी भी डाउनलोड के लिए उपलब्ध है। इसी तरह से कैमस्कैनर, शीन और किंग्स के संघर्ष भी डाउनलोड के लिए वर्तमान में उपलब्ध हैं। वहीं, टिकटॉक की तरह कुछ ऐप हैं जिन्हें हटा दिया गया है, जैसे हेलो ऐप। लाइक को अभी भी डाउनलोड किया जा सकता है। यदि आप बैन हुए ऐप्स के resular यूज़र्स हैं और आप उनके बाद अन्य विकल्प की तलाश कर रहे हैं, तो गैजेट्स 360 ने आपके लिए कुछ विकल्प ढूंढने के लिए जिन्हें आप इनकी जगह इस्तेमाल कर सकते हैं।

बैन होने के पीछे आधिकारिक बयान सुरक्षा और रक्षा पर केंद्रित है, हालांकि यह साफ है कि बैन किए गए 59 चीनी ऐप्स का एक कारण भारत और चीन में तनाव भी बढ़ा है। आपको बता दें, यह पहली बार नहीं है कि जब टिकटॉक को बैन किया गया हो, इससे पहले भी इस ऐप को बैन किया गया है, लेकिन हर बार इसने वापसी की है। हालांकि, मौज़ूदा परिस्थितियाँ अलग हैं। इस बार ऐप को रिफ़ॉर्मिंग में थोड़ा बहुत लगने वाला है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: