Tech News

What Is Blue Whale?Blue Whale In India?In Hindi

ब्लू व्हेल यानी एक खूनी खेल। इस खेल को खेलते हुए बच्चे जान दे रहे हैं। आए दिन खबरें मिल रही हैं कि एक बच्चे ने Blue Whale गेम खेलते हुए छत से छलांग दी। ऐसे सवाल ये है कि आखिर क्या है ब्लू व्हेल गेम और इससे अपने बच्चों को कैसे बचाएं?  यह गेम पहले रसिया में था अब यह इंडिया में भी आगया हे. मुंबई के अंधेरी ईस्ट में 9वीं क्लास के 14 साल के मनप्रीत ने 6 मंजिला बिल्डिंग से कूदकर जान दे दी। बताया जा रहा है कि इस गेम को खेलने के बाद ही मनप्रीत ने छलांग लगाई है।

 

 

सबसे पहले आपको बता दें कि यह गेम आपका ना ही प्ले-स्टोर पर मिलेगा और ना ही किसी साइट पर। यह एक डार्क वेब हे| यह एक सोशल मीडिया गेम है जिसके जरिए फेसबुक और इंस्टाग्राम यूज करने वाले बच्चों को निशाना बनाया जा रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक इस गेम की वजह से रूस में अब तक 130 बच्चों की मौत हो गई है। इस गेम में फेसबुक या इंस्टाग्राम अकाउंट से लॉग इन करना होता है, उसके बाद चैलेंज दिए जाते हैं। बता दें कि इस गेम को बनाने वाले Phillip Budeikin को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। फिलिप ने पुलिस को बताया कि उसने यह गेम उन लोगों के लिए बनाया जो लोग जीना नहीं चाहते। वहीं इंस्टाग्राम ने इस गेम को बंद कर दिया है। #bluewhalechallenge सर्च करने पर इंस्टाग्राम पर मैसेज मिल रहा है कि यह वर्ड हार्मफुल है। यह यूजर्स को सुसाइड के लिए उकसाता है।

इस गेम को में अलग अगल टास्क दिए जाते जिसका फोटो खीच के अपलोड करना होता हे, जेसे की पहले दिन अपने हाथमे वहले का चित्र बनाना दुसरे दिन  में सुबह 4 बजे सो कर उठने और हॉरर मूवी देखने जैसे टास्क दिए जाते हैं। नसें काटना- गेम में एक चैलेंज हाथ की 3 नसों को काटकर उसकी फोटो भेजने वाला भी है।छत से कूदना- क्यूरेटर यूजर्स को सुबह छत से छलांग लगाने को भी कहता है।
चाकू से काटना- इस गेम एक टास्क व्हेल बनने के लिए तैयार होना है। इसमें फेल होने पर हाथ पर चाकू के कई वार करने होते हैं और पास होने पर पैर पर ब्लेड से YES उकेरना होता है।
म्यूजिक सुनना- क्यूरेटर यूजर्स को म्यूजिक भेजता है जो सुसाइड करने और खुद को नुकसान पहुंचाने के लिए उकसाने वाले होते हैं।
गेम के 50वें और अंतिम टास्क में सुसाइड करना होता है। ऐसा नहीं करने पर बच्चों को धमकी दी जाती है कि आपके पूरे परिवार की डिटेल उनके पास है और वे आपके पूरे परिवार को जान से मार देंगे। ऐसे में गेम खेलते-खेलते डरा हुआ बच्चा सुसाइड कर लेता है|

 

 

जैसे ही आपको शक हो कि आपका बच्चा अचानक से सुबह उठने लगा है, अकेले में समय बिताने लगा है, फोन को 24 घंटे अपने पास रखने लगा है, अचानक से हॉरर फिल्में देखने लगा है, दोस्तों से दूर रहने लगा है, डरा-डरा सा रहने लगा है तो आप फौरन शतर्क हो जाएं और उस पर नजर रखें। संभव हो तो उसे इंटरनेट से ही दूर करें। इन सावधानियों से आप अपने बच्चों को इस खूनी खेल से बचा सकते हैं।

 

 

 

Leave a Reply