लाइक ऐप ने बंद की भारत में अपनी सेवा, बैन पर आए कंपनी का बयान


केंद्र सरकार द्वारा बैन किए गए एप्लिकेशन Google Play और ऐप स्टोर से हटा दिए गए हैं। इस लिस्ट में लाइक ऐप भी है। जो अब Google Play और ऐप स्टोर उपलब्ध नहीं है। लाईकी की पेरेंट कंपनी बिगोमिट प्राइवेट लिमिटेड (BIGO Technology Pte Ltd) ने गुरुवार को प्रेस विज्ञप्ति जारी करके आधिकारिक तौर पर इस ऐप को हटाने की पुष्टि की। हालाँकि, कंपनी का कहना है कि वह स्थानीय कानूनों के तहत संबंधित सरकारी अधिकारियों के साथ मिलकर इस समस्या पर काम कर रही है।इस संबंध में एक स्टेटमेंट ज़ारी करते हुए BIGO टेक्नोलॉजीज ने कहा, “हम भारत सरकार के आदेश का सम्मान करते हैं, और इसी को देखते हुए हमने अस्थायी रूप से Google Play और ऐप स्टोर से लाईकी ऐप को हटा दिया है। वहीं, इस मामले में में ज्यादा स्पष्टता सामने आने तक हम भारत में इसकी सेवा निलंबित रखेंगे। ”

कंपनी ने आगे कहा कि वह स्थानीय कानून का पालन करेगी और भारत में ऐप के हज़ारों यूज़र्स की निजतासी और डेटा सिक्योरिटी सुनिश्चित करेगी। कंपनी ने बताया है कि Likee ऐप की रिसर्च एंड डेवलपमेंट टीम ने सेवा बंद करने के लिए 24 घंटे काम किया।

आपको बता दें, भारत सरकार के पास 29 जून की रात को 59 ऐप हैं बैन कर दिए गए थे, जिसमें लाइक ऐप भी शामिल था। सरकार ने अपने बयान में कहा है कि मंत्रालय ने इन ऐप को आईटी एक्ट के सेक्शन 69A के तहत सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम के प्रावधानों के तहत लागू करते हुए व सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (प्रोसिजर और सेफगार्ड्स फॉर इंफोर्मेशन ऑफ इंफोर्मेटिस पब्लिक) नियम 2009 और देखने की प्रकृति को देखते हुए 59 एप्लिकेशन को बैन कर दिया गया है। उपलब्ध जानकारी के अनुसार, ये एप्लिकेशन कुछ ऐसी गतिविधियों में लगे हुए थे, जो भारत की संप्रभुता और अखंडता, भारत की रक्षा, राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिएone उत्पन्न कर सकते थे।

लाइक ऐप को जुलाई 2017 में पेश किया गया था और यह ऐप 180 देशों में काम करता है। कंपनी के डेटा के अनुसार भारत में लाईकी ऐप को 400 मिलियन डाउनलोड प्राप्त हुए थे।

टिकटोक की तरह ही यह ऐप भी शॉर्ट वीडियो मोबाइल ऐप है, जिस पर लोग शॉर्ट वीडियो कॉन्टेंट देख व अपलोड कर सकते हैं। खासतौर पर इसकी पहचान वीडियो एडिंटिंग और क्रिएशन तुल के तौर पर होती है, जिसमें 1000 से ज्यादा वीडियो इफेक्ट्स मौजूद हैं।]इसके अलावा भारत में लाईकी ऐप 15 भाषाओं को सपोर्ट करता था।

Leave a Reply

%d bloggers like this: